International

बाइडेन और जिनपिंग में सात महीने बाद डेढ़ घंटे की बातचीत

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सात महीनों में पहली बार फोन पर बात की. चीन-अमेरिका संबंध निचले स्तरों पर चले गए हैं. दोनों पक्ष व्यापार विवादों को चौतरफा संघर्ष में बदलने से बचना चाहते हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और उनके चीनी समकक्ष शी जिनपिंग ने सात महीनों में पहली बार फोन पर बात की है. दोनों नेताओं के बीच डेढ़ की फोन पर बातचीत हुई. पिछले सात महीनों में दोनों नेताओं के बीच यह पहली वार्ता थी जिसमें कई अहम मुद्दों पर चर्चा हुई.

व्हाइट हाउस और चीनी सरकारी मीडिया ने फोन कॉल की पुष्टि करते हुए कहा कि दोनों नेताओं के बीच शुक्रवार सुबह बातचीत हुई. व्हाइट हाउस के मुताबिक वार्ता लगभग 90 मिनट तक चली, अमेरिका और चीन के बीच संबंधों को सुधारने का रास्ता खोजने पर ध्यान केंद्रित किया.

किन मुद्दों पर हुई चर्चा?

व्हाइट हाउस के एक बयान में कहा गया है, “दोनों नेताओं ने व्यापक और रणनीतिक वार्ता में उन क्षेत्रों पर चर्चा की, जहां हमारे हित भिन्न हैं, जिनमें ऐसे मुद्दे भी शामिल हैं जहां हमारे हित, मूल्य और दृष्टिकोण परस्पर असमान हैं.”

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पद संभालने के बाद फरवरी में राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बात की थी. हालांकि, दोनों पक्षों के बीच किसी महत्वपूर्ण प्रगति के कोई संकेत नहीं थे और दोनों समय-समय पर कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर एक-दूसरे की आलोचना करते रहे हैं. इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुद फोन करने का फैसला किया.

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, “राष्ट्रपति जो बाइडेन ने हिंद महासागर और दुनिया में शांति, स्थिरता और समृद्धि में अमेरिका की स्थायी रुचि की पुष्टि की. दोनों नेताओं ने दोनों देशों की जिम्मेदारियों पर चर्चा की.”

किन मुद्दों पर हुई चर्चा?

व्हाइट हाउस के एक बयान में कहा गया है, “दोनों नेताओं ने व्यापक और रणनीतिक वार्ता में उन क्षेत्रों पर चर्चा की, जहां हमारे हित भिन्न हैं, जिनमें ऐसे मुद्दे भी शामिल हैं जहां हमारे हित, मूल्य और दृष्टिकोण परस्पर असमान हैं.”

राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पद संभालने के बाद फरवरी में राष्ट्रपति शी जिनपिंग से बात की थी. हालांकि, दोनों पक्षों के बीच किसी महत्वपूर्ण प्रगति के कोई संकेत नहीं थे और दोनों समय-समय पर कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर एक-दूसरे की आलोचना करते रहे हैं. इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुद फोन करने का फैसला किया.

व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा, “राष्ट्रपति जो बाइडेन ने हिंद महासागर और दुनिया में शांति, स्थिरता और समृद्धि में अमेरिका की स्थायी रुचि की पुष्टि की. दोनों नेताओं ने दोनों देशों की जिम्मेदारियों पर चर्चा की.”s

Leave a Reply

Back to top button